कही आपका मोबाईल आपके रिश्तो को ख़त्म तो नहीं कर रहा , पढ़े पूरी खबर

आपका मोबाईल कही आपके रिश्तो में दरार तो नहीं डाल रहा , क्यों की एक शोध में पता चला है की मोबाईल में ज्यादा समय लगे रहने की वजह से लोग अपनी पत्नी और प्रेमिका को कम समय दे रहे है जिसकी वजह से उनके रिश्तो में दूरिया बढ़ रही है |

इण्डिया, कोर न्यूज़ टीम दिल्ली Last updated: 30 March 2018 | 13:14:00

कही आपका मोबाईल आपके रिश्तो को ख़त्म तो नहीं कर रहा

: मोबाइल आजकल सिर्फ मनोंरजन नहीं बल्कि काम का अहम जरिया बन गया है. इसके बिना काम कर पाना मुश्किल है, लेकिन कई बार यही मोबाइल रिश्ते टूटने की वजह बन जाता है. 
ब्रिटेन में यूनिवर्सिटी ऑफ केंट के मनोचिकित्सकों ने किसी को नजरअंदाज करते हुए अपने फोन में लगे रहने वाले लोगों पर इसके प्रभाव का अध्ययन किया. उन्होंने इसे फबिंग का नाम दिया है.

एक स्टडी में बताया गया कि अगर आप किसी के साथ होते हुए भी उसके साथ नहीं हैं यानी उससे बात करने के बजाय नजरें मोबाइल फोन में गड़ाए रहते हैं तो अब अलर्ट हो जाइए. दूसरों को नजरअंदाज करके अपने सेल फोन में मग्न रहने (फबिंग) से रिश्तों पर नकारात्मक असर पड़ सकता है.


उन्होंने पाया कि फबिंग बढ़ने से आपसी संबंधों पर नकारात्मक असर पड़ता है.

उन्होंने 153 लोगों को इस अध्ययन में शामिल किया जिन्हें दो लोगों की बातचीत के एनिमेशन को देखने के लिए कहा गया और साथ ही यह मानने के लिए कहा गया कि उनमें से एक वह खुद हैं.

मोबाईल इस्तेमाल करने वोलो को तीन श्रेणी में बाटा गया है....

1: बिल्कुल भी फबिंग नहीं, 

2 आंशिक फबिंग 

3 पूरी तरह से फबिंग.


जानकारों की माने तो आज कल लोग मोबाईल में ज्यादा समय बिताते है जिसकी वजह से वो अपने बच्चो और पत्नियों को कम समय दे रहे है जिसकी वजह से दूरियों का माहौल बनता जा रहा है और लोग समझ नहीं पा रहे है की उनके रिश्ते क्यों ख़राब होते जा रहे है इस लिए आप मोबाईल पे समय दे लेकिन ये भी ध्यान रहे की आपका भी कोई इन्तजार करता है , एक शोध में पता चला है की युवा वर्ग भी मोबाईल ( फबिंग) से काफी दुखी है |

 

 

 

photo credit shutterstock 

Write Your Own Review

Customer Reviews

सबसे तेज़

अन्य खबरे