कल से शुरू होगा रमजान का `पाक महीना`, मोबाइल ऐप पर जान सकेंगे सहरी, इफ्तार और तरावीह का समय

दुनियाभर में रोजा रखने वाले करोड़ों मुसलमानों के लिए रमजान का पाक महीना 17 मई से शुरू हो रहा है. सऊदी अरब और इंडोनेशिया जैसे अन्य मुस्लिम बहुल देशों ने घोषणा की है कि रमजान 16 मई से शुरू नहीं होगा. आपको बता दें कि चांद के दिखने की गणना के आधार पर ये

इंडिया, कोर न्यूज़ टीम लखनऊ Last updated: 16 May 2018 | 15:31:00

कल से शुरू होगा रमजान का `पाक महीना`, मोबाइल ऐप पर जान सकेंगे सहरी, इफ्तार और तरावीह का समय

रमजान के मुकद्दस महीने के दौरान रोजेदारों को सहरी, इफ्तार और तरावीह का वक्त जानने में सहूलियत के लिए बुधवार (16 मई) को एक विशेष मोबाइल एप्लीकेशन की शुरुआत की गई. इस्लामिक सेंटर ऑफ इण्डिया द्वारा तैयार कराए गए आईसीआई `रमजान हेल्प लाइन ऐप` का दारुल उलूम फरंग महल में लोकार्पण किया गया. आपको बता दें कि दुनियाभर में रोजा रखने वाले करोड़ों मुसलमानों के लिए रमजान का पाक महीना 17 मई से शुरू हो रहा है.

17 मई से शुरू होंगे रमजान
दुनियाभर में रोजा रखने वाले करोड़ों मुसलमानों के लिए रमजान का पाक महीना 17 मई से शुरू हो रहा है. सऊदी अरब और इंडोनेशिया जैसे अन्य मुस्लिम बहुल देशों ने घोषणा की है कि रमजान 16 मई से शुरू नहीं होगा. आपको बता दें कि चांद के दिखने की गणना के आधार पर ये महीना शुरू होता है.

रमजान की हर जानकारी देगा ऐप
सेंटर के चेयरमैन और फरंग महल के नाजिम मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने बताया कि इस ऐप में रमजान की अहमियत के साथ-साथ इफ्तार और सहरी का समय, शहर की विशेष मस्जिदों में तरावीह की नमाज का वक्त, इफ्तार, सहरी, तरावीह और शबे कद्र से सम्बन्धित दुआएं शामिल हैं.

एकतरफा संघर्ष विराम की हिमायती पार्टियां रमजान को लेकर कर रही हैं राजनीति : जितेंद्र सिंह

ऐप देगा सवालों का जवाब
उन्होंने बताया कि इसके अलावा रोजा, जकात, तरावीह, इफ्तार, सहरी, नमाज तथा अन्य मामलों से सम्बन्धित सवालों के जवाब के लिए ऐप में अलग सेक्शन बनाया गया है. उम्मीद है कि इससे बड़े पैमाने पर लोगों को फायदा पहुंचेगा.

 

 

credit by zee news 

Write Your Own Review

Customer Reviews

सबसे तेज़

अन्य खबरे