बार बालाओं के लिए आपस में उलझे महाकाल और प्लास्टिक गैंग, गैंगवार से थर्राया इलाका

पटना, जेएनएन। मसौढ़ी थाना क्षेत्र स्थित छोटकी मसौढ़ी में रविवार की देर रात बार बालाओं के साथ डांस करने को लेकर दो बाइकर्स गैंग आपस में भिड़ गए। वर्चस्व को लेकर हुई इस भिड़ंत में डीजे की तेज धुन पर पहले तो दोनों गुटों में जमकर मारपीट हुई।

इंडिया, कोर न्यूज़ टीम पटना Last updated: 19 February 2019 | 12:48:00

बार बालाओं के लिए आपस में उलझे महाकाल और प्लास्टिक गैंग, गैंगवार से थर्राया इलाका

पटना, जेएनएन। मसौढ़ी थाना क्षेत्र स्थित छोटकी मसौढ़ी में रविवार की देर रात बार बालाओं के साथ डांस करने को लेकर दो बाइकर्स गैंग आपस में भिड़ गए। वर्चस्व को लेकर हुई इस भिड़ंत में डीजे की तेज धुन पर पहले तो दोनों गुटों में जमकर मारपीट हुई। फिर अहले सुबह वहां से लौटने के दौरान महाराजचक मलामचक के पास एक गुट के सदस्यों ने दूसरे गुट को घेर गोलियां बरसानी शुरू कर दीं। इस गैंगवार से पूरा इलाका थर्रा उठा।

छोटकी मसौढ़ी के मलमाचक-महाराजचक में सोमवार तड़के बर्थ-डे पार्टी में डांस देखकर लौट रहे युवकों पर प्लास्टिक गैंग के सदस्यों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। गोली लगने से तीन युवक घायल हो गए। लहूलुहान हालत में तीनों सड़क पर गिर गए। उन्हें मृत समझकर हमलावर हवाई फायरिंग करते भाग निकले।

स्थानीय लोगों की मदद से घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां प्राथमिकी उपचार के बाद डॉक्टरों ने उन्हें पीएमसीएच रेफर कर दिया। घायलों में कैलूचक मोहल्ला निवासी बिट्टू कुमार (22), सुकठियां गांव निवासी देवराज कुमार (26) और कादिरगंज थानान्तर्गत दौलतपुर निवासी मनीष कुमार (25) के रूप में हुई है। एसएसपी गरिमा मलिक के मुताबिक, घायल युवकों का इलाज चल रहा है। हमलावरों की तलाश की जा रही है।
कारू यादव के पोते की थी बर्थ-डे पार्टी

छोटकी मसौढ़ी निवासी कारू यादव के पोते की बर्थ-डे पार्टी थी। पार्टी में डीजे की धुन पर दो महिला डांसर नाच रही थीं। तभी वहां प्लास्टिक गैंग के सदस्य पहुंच गए। पार्टी में पहले से महाकाल गैंग के सदस्य डांस देख रहे थे।दोनों गिरोह के गुर्गों के बीच डांस देखने को लेकर बहस हुई, जिसके बाद महाकाल गैंग के लड़कों ने विपक्षियों को भगा दिया। इससे भड़के प्लास्टिक गैंग के सदस्यों ने हमला करने का मन बना लिया। सोमवार तड़के डांस समाप्त होने के बाद जब महाकल गैंग के लड़के घर लौट रहे थे, तभी विपक्षियों ने उन्हें घेरकर फायङ्क्षरग शुरू कर दी।

छह घंटे तक नहीं हुई पुलिस को जानकारी

क्षेत्र में मसौढ़ी थाना पुलिस की पकड़ कितनी मजबूत है, इसका अंदाजा लगाना सहज होगा कि तीन युवकों को गोली मारने की घटना से पुलिस छह घंटे तक अनभिज्ञता जाहिर करती रही। पुलिस की सुस्ती के कारण ग्रामीण आक्रोशित हो गए।

ग्रामीणों ने कई बार सिटी एसपी (पूर्वी) राजेंद्र सिंह भील को कॉल की, लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया। इससे इलाके में तनाव और बढ़ गया। सूत्र बताते हैं कि महाकाल गैंग और प्लास्टिक गैंग में वर्चस्व को लेकर अक्सर ङ्क्षहसक झड़प होती रहती है।इस हमले का बदला लेने के लिए महाकाल गैंग भी तैयारी में जुट गया है। अगर थाना पुलिस इसी तरह सुस्त रही तो बड़ी वारदात हो सकती है। इधर, डीएसपी सोनू राय ने कहा कि हमला करने वाले प्लास्टिक गैंग के सदस्यों की पहचान हो गई है।

 

 

credit by: jagran

Write Your Own Review

Customer Reviews

सबसे तेज़

अन्य खबरे