SRK बनेंगे ज़ीरो या हीरो

आज के तेज़ रफ़्तार समय में हर बड़ा अभिनेता मार्किट में अपनी ब्रांड इमेज बनाये रखना चाहता है इसीलिए अब SRK की ये फिल्म उन्हें या तोह ज़ीरो बना देगी या हीरो |

इंडिया, कोर न्यूज़ टीम डेस्क Last updated: 11 April 2018 | 15:37:00

SRK बनेंगे ज़ीरो या हीरो

बॉलीवुड के किंग कहे जाने वाले शाह रुख खान सिर्फ अपने अभिनय के लिए ही नहीं बल्कि
विज्ञापन की दुनिया में अपनी ग्लोबल ब्रांड इमेज के लिए भी जाने जाते हैं |



SRK की ग्लोबल ब्रांड इमेज इसलिए भी मायने रखती है क्योकि किंग खान बॉलीवुड के ऐसे
अभिनेता हैं जिसकी हर फिल्म डोमेस्टिक ही नई बल्कि इंटरनेशनल बॉक्स ऑफिस पर भी
अपना जलवा भिखेरती हैं | 





लेकिन लगता है किंग खान के सितारे आजकल कुछ अच्छे  नई चल रहे हैं| उनकी हाल ही में
रिलीज़ हुई फिल्में फैन और जब हैरी मेट सेजल  सिनेमाघरों में कुछ ज़ादा कमाल नहीं दिखा
पाई हैं| ऐसा नही है की शाह रुख खान की इससे पहले फिल्में फ्लॉप न हुईं हों 
लेकिन अगर आज SRK की ग्लोबल ब्रांड इमेज को देखा जाये तो यह किंग खान के
लिए गहरा चिंता का विषय है| पहले कम्पटीशन कम था लेकिन आज
एक्सपेरिमेंटल और अलग सिनेमा की बढ़ती मांग की वजह से यह कम्पटीशन
बढ़ गया है| अगर हम आज की बात करें तोह दर्शक सिर्फ बड़े स्टार को देखने
सिनेमाघर नहीं जाते, फिल्म का कंटेंट भी अपनी एहम भूमिका निभाता है|

आजकल हर फिल्म रिलीज़ होने के कुछ ही हफ्तों में इंटरनेट और टीवी पर आजाती
है जिसके चलते फिल्म के निर्माताओं के लिए दर्शकों को सिनेमाघरों तक खींचना
टेढ़ी खीर हो गया है|  



बॉलीवुड में अपना वर्चस्व साबित कर चुके SRK  के लिए आनंद अल. राय के निर्देशन  में बन रही  फिल्म `ज़ीरो` का सुपरहिट होना बेहद  ही ज़रूरी हो गया है क्यूंकि अगर ये फिल्म भी SRK की पिछली फिल्मों की तरह फ्लॉप रही तोह किंग खान की ब्रांड इमेज को इससे बेहद नुकसान पहुंचेगा | 







लेकिन हम दर्शकों को बतादे की शाह रुख खान इतनी जल्दी हार मानने वालो में से नहीं है| अगर बात की जाये तोह SRK के इस डायलाग `पिक्चर अभी बाकि हैं मेरे दोस्त ` से ऐसा लगता हैं की SRK अब पूरी तरह से बॉक्स ऑफिस को फिर एक ब्लॉकबस्टर फिल्म देने के लिए तैयार हैं इसलिए वह फिल्म की मेकिंग से लेकर पोस्ट प्रोडक्शन और मार्केटिंग पर पूरा ध्यान दे रहे हैं | यह कहना गलत नहीं होगा की अगर शाह रुख किसी चीज़ को पूरे दिल से चाहें तोह सारी कायनात उन्हें उससे मिलाने की कोशिश में लग जाती है| 


 

बॉलीवुड के बादशाह खान ने अपने करियर की शुरुआत सन 1992 में आयी फिल्म `दीवाना` से की थी| फिर SRK ने बाज़ीगर, डर और अंजाम जैसी फिल्मों में एंटी-हीरो का किरदार निभाया जिसमे उन्हें दर्शकों ने खूब पसंद किया |



SRK ने आदित्य चोपड़ा की फिल्म `दिल वाले दुल्हनिया ले जायेंगे ` से अपनी एक रोमांटिक हीरो की छवि बनाई और फिर बॉलीवुड के रोमांस किंग बनकर लोगों के दिलो पर राज करने लगे | 

लेकिन एक समय ऐसा भी आया जब किंग खान ने कई ऐसी फिल्में भी करी जो बॉक्स ऑफिस पर ज्यादा चल नई पा रहीं थी जैसे की सन 1999 में रिलीज़ हुई फिल्म `बादशाह` , 2000  में `फिर भी दिल है हिंदुस्तानी` और सन 2001 में रिलीज़ हुई `असोका` | फिल्म `असोका` को वेनिस फिल्म फेस्टिवल  और 2001 टोरंटो इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में पॉजिटिव रिस्पांस मिला था परन्तु  दर्शकों ने इस फिल्म को बॉक्स ऑफिस पर नकार दिया था|  



लेकिन SRK की सन 2000 में रिलीज़ हुई फिल्म `मोहब्बतें  और सन 2001 में करण जोहर के निर्देशन में बनी फिल्म `कभी ख़ुशी कभी ग़म` रिलीज़  हुई जिसने SRK के करियर को एक नया मोड़ दिया|  फिर सन 2002  में निर्देशक संजय लीला भंसाली की फिल्म `देवदास` रिलीज़ हुई जो बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट साबित हुई|  
 

फिल्म `देवदास` उस समय की सबसे महंगी फिल्म थी जिसे करीब Rs  50  Crore के बजट से बनाया गया था |  

बादशाह खान ने कल हो न हो , मैं हूँ ना , कभी अलविदा न कहना, `माय नेम इस खान, चक दे इंडिया, ओम शांति ओम , जब तक है जान, चेन्नई एक्सप्रेस  और दिलवाले जैसी सुपरहिट फिल्में भी अपने चाहने वालों को दीं जिसने उन्हें बॉलीवुड का किंग बना दिया | 

आज के तेज़ रफ़्तार समय में हर बड़ा अभिनेता मार्किट में अपनी ब्रांड इमेज बनाये रखना चाहता है इसीलिए अब SRK की ये फिल्म उन्हें या तोह ज़ीरो बना देगी या हीरो | 



अब देखना होगा कि SRK क्या फिर अपना जादू  चला पाएंगे या नहीं  |







Write Your Own Review

Customer Reviews

सबसे तेज़

अन्य खबरे