बीजेपी सांसद ने मांग की ,कि बालदिवस से पंडित जवाहर लाल नेहरू का नाम हटाया जाए

पीएम मोदी को प्रवेश वर्मा की ओर से लिखी गई चिट्टी में 100 सांसदों के हस्ताक्षर हैं। उन्होंने दावा किया है कि देश के 100 सांसद उनकी बात से सहमत हैं और उन्होंने बिना किसी दवाब के उनकी चिट्ठी पर हस्ताक्षर किए हैं

इंडिया, कोर न्यूज़ टीम डेस्क Last updated: 06 April 2018 | 13:15:00

बीजेपी सांसद ने मांग की ,कि बालदिवस से पंडित जवाहर लाल नेहरू का नाम हटाया जाए

14 नवंबर को मनाये जाने वाले बाल दिवस से जवाहर लाल नेहरू के नाम  हटाने को लेकर भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा ने प्रधानमंत्री मोदी को एक चिट्ठी लिखा है।प्रवेश वर्मा का कहना है कि बाल दिवस पंडित नेहरू के जन्मदिन की बजाय गुरु गोविंद सिंह के बच्चों की कुर्बानी के दिन के रूप में मनाया जाना चाहिए. उनका कहना है की सिखों के दसवें गुरु गोविंद सिंह के बेटों ने देश के लिए अपने प्राण न्यौछावर किए थे, इसलिए बच्चों को उनकी कहानी पढ़ाई जानी चाहिए.

पीएम मोदी को प्रवेश वर्मा की ओर से लिखी गई चिट्टी में 100 सांसदों के हस्ताक्षर हैं। उन्होंने दावा किया है कि देश के 100 सांसद उनकी बात से सहमत हैं और उन्होंने बिना किसी दवाब के उनकी चिट्ठी पर हस्ताक्षर किए हैं। बीजेपी सांसद का कहना है कि गुरु गोविंद की जीवनी और उनके संघर्ष की कहानी पढ़ाए जाने से बच्चों में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होगा गुरु गोविंद सिंह की कहानी जानने से बच्चों को प्रेरणा मिलेगी.

चाचा दिवस मनाइए

बीजेपी सांसद ने सुझाव देते हुए लिखा है कि पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिन को "चाचा दिवस" के तौर पर मनाया जाना चाहिए.

बाल दिवस पर जानिए ये बातें

बाल दिवस बच्चों के अधिकारों और शिक्षा के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए सेलिब्रेट किया जाता है। स्कूलों में इस दिन को खास बनाने के लिए कार्यक्रम रखे जाते हैं। फैंसी ड्रेस, डांस, नाटक आदि जैसे कार्यक्रम रखे जाते हैं। बाल दिवस पर नेहरु जी की सीख बच्चों को समझाने का प्रयास किया जाता है। इस तरह से बच्चों के जीवन में चाचा नेहरु के महत्व को बनाए रखने का प्रयास किया जाता है।

कई देशों में बाल दिवस 1 जून को मनाया जाता है। वहीं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बाल दिवस या चिल्ड्रन डे 20 नवंबर को मनाया जाता है। नेहरु जी बच्चों को देश के भविष्य की तरह देखते थे। पंडित नेहरू ने भारत की आजादी के बाद बच्चों की शिक्षा, प्रगति और कल्याण के लिए बहुत काम किया। उन्होंने विभिन्न शैक्षिक संस्थानों जैसे भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान और भारतीय प्रबंधन संस्थान की स्थापना की थी।


भारत के अलावा बाल दिवस दुनिया भर में अलग अलग तारीखों पर मनाया जाता है। यूएन ने 20 नवबंर को बाल दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की लेकिन यह अन्य देशों में अलग-अलग दिन मनाया जाता है। कुछ देशों में आज भी 20 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाता है। 1950 से कई देशों में बाल संरक्षण दिवस ( 1 जून) पर ही बाल दिवस मनाया जाता है।



फोटो क्रेडिट गूगल (Yousuf कर्ष)

Write Your Own Review

Customer Reviews

सबसे तेज़

अन्य खबरे