दलितों के लिए उपवास से पहले कांग्रेस की पेट पूजा, फोटो हुई वायरल

कांग्रेस के बड़े नेता राजघाट पर उपवास रखने से पहले दिल्ली के चांदनी चौक स्थित एक रेस्त्रां में छोले भटूरे की दावत उड़ाते नजर आ रहे हैं.

इंडिया, कोर न्यूज़ टीम दिल्ली Last updated: 09 April 2018 | 15:26:00

उपवास से पहले कांग्रेस की पेट पूजा, फोटो हुई वायरल

दलितों के साथ हो रही हिंसा के विरोध में कांग्रेस ने सोमवार को देशव्यापी उपवास रखा. इसका हिस्सा बनने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष से लेकर पार्टी के कई दिग्गज नेता राजघाट पहुंचे.दलितों पर अत्याचार के मुद्दे पर बड़े जोर-शोर से आज एक दिन का उपवास करने वाली कांग्रेस के नेता बुरे फंस गए हैं. उनकी एक तस्वीर सामने आ गई है जिसमें दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन, हारुन यूसुफ और अरविंदर सिंह लवली छोले-भटूरे खाते हुए देखे जा रहे हैं. तस्वीर आने के बाद अरविंद सिंह लवली ने बड़ी अजीब सफाई दी है कि उपवास तो 10 बजे से था ये तस्वीर तो सुबह 8 बजे की है. हालांकि इस खबर के सामने आने के बाद कांग्रेस नेता बगले झांकते हुए नजर आए हैं.

गौरतलब है कि आज कांग्रेस दलितों पर अत्याचार, संसद न चलने देने और सांप्रदायिक सौहार्द के मुद्दे पर पूरे देश में अनशन कर रही है. अशोक गहलोत की तरफ से पार्टी के सभी प्रदेश अध्यक्षों, एआईसीसी महासचिवों/प्रभारियों और विधायक दल के नेताओं के भेजे गए दिशा निर्देश में कहा गया है कि सांप्रदायिक सौहार्द को बचाने और बढ़ाने के लिए सभी राज्यों और जिलों के कांग्रेस मुख्यालयों में 9 अप्रैल को उपवास रखा जाए. वहीं बीते शुक्रवार को बीजेपी संसदीय दल की बैठक में फैसला लिया गया कि बीजेपी सांसदों से कहा कि वे कांग्रेस की विभेदकारी नीतियों के खिलाफ 12 तारीख़ को उपवास रखें. दलितों के मामले में जिस तरह के तूल पकड़ा और भारत बंद के दौरान जो हिंसा हुई उसके पीछे बीजेपी विपक्ष को ज़िम्मेदार ठहरा रही है. जाहिर है कांग्रेस और बीजेपी दोनों उपवास के ज़रिए अपने अपने तरीक़े से दलितों के हक़ में खड़ा दिखने की कोशिश कर रही है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में राजघाट पर आयोजित उपवास कार्यक्रम में पार्टी के नेता जगदीश टाइटलर और सज्जन कुमार हिस्सा लेने पहुंचे थे, लेकिन उन्हें मंच से उतार दिया गया. बताया जा रहा है कि सज्जन कुमार और जगदीश टाइटलर 1984 सिख दंगा मामले में आरोपी हैं, ऐसे में उनके राहुल गांधी के बगल में बैठने से उनकी छवि को नुकसान पहुंच सकता था. इसी बात को ध्यान में रखते हुए उन्हें मंच से उतरने के लिए कह दिया गया. हालांकि पार्टी के नेताओं ने इस आरोप को खारिज किया है. इन विवादों के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी राजघाट पर पहुंचकर कांग्रेस के उपवास कार्यक्रम में हिस्सा लिया. राहुल गांधी ने बापू की समाधि स्थल पर जाकर सिर झुकाया.

 

pic zee news 

Write Your Own Review

Customer Reviews

सबसे तेज़

अन्य खबरे