संगीत से बच्चो में बढ़ रहे गुस्से और तनाव को काबू करने लिए खुला स्कूल

देश के अग्रणी म्यूजिक संस्थाओं में शुमार दिल्ली के रिदम स्कूल ऑफ म्यूजिक के नोएडा शाखा का उदघाटन के साथ चेरी क्रिसेंट प्ले स्कूल की शुरआत भी हुई ।

इंडिया, कोर न्यूज़ टीम नोएडा Last updated: 07 July 2019 | 20:14:00

संगीत से बच्चो में बढ़ रहे गुस्से और तनाव को काबू करने लिए खुला स्कूल

इस हाइटेक युग में बच्चों का रुझान मोबाइल और वीडियो गेम्स के बीच बढ़ा है और उनमें हमेशा जीतने की ललक ने ना एरोगेन्ट बल्कि हिंसक भी बनाया है। हमेशा मोबाइल वीडियो गेम्स खेलने के कारण उनका स्वास्थ्य बिगड़ रहा है। संगीत ऐसा माध्यम है इसमें बच्चों को शांति एकाग्रचित करने में मदद करता है। नोएडा के सेक्टर 72 में एक ऐसे ही स्कूल ‘रिदम स्कूल ऑफ म्यूजिक’ खोला गया है जिसमें बच्चों को संस्कृति कला से रूबरू कराने के साथ-साथ उन्हें शांति का एकाग्रचित करने में मदद कर रहा है। इस स्कूल के उद्घाटन के अवसर पर बच्चों ने रंगारंग प्रोग्राम पेश कर सबको मन मुक्त कर दिया।

देश के अग्रणी म्यूजिक संस्थाओं में शुमार दिल्ली के रिदम स्कूल ऑफ म्यूजिक के नोएडा शाखा का उदघाटन के साथ चेरी क्रिसेंट प्ले स्कूल की शुरआत भी हुई ।इस मौके पर नेशनल अवॉर्डी कलाकारों ने अपनी संगीतमय प्रस्तुति से समां बांध दिया ।रिदम स्कूल ऑफ म्यूजिक के बच्चों ने भी अपनी मनमोहक प्रस्तुति से लोगों का दिल जीत लिया । चेरी क्रीसेंट प्ले स्कूल अपने आप में काफी अनूठा है । एक छत के नीचे प्ले स्कूल,डे केयर और म्यूजिक स्कूल का नोएडा में ये इकलौता विकल्प है।


रिदम स्कूल ऑफ म्यूजिक की संस्थापक और जानी मानी गायिका रिनी मुखर्जी ने कहा कि म्यूजिक एक यूनिवर्सल लैंग्वेज है जो बड़े हो या बच्चे सबके व्यक्तित्व में चेंज लाता है आज के युग में जब बच्चों में एरोगेंस और गुस्सा बढ़ रहा है। ऐसे में संगीत उन्हें फूल और काम करने में मदद करता है उनका पेसेंस बढ़ाता है उनका प्रयास है की वे बच्चो को मोबाइल और वीडियो गेम्स की दुनिया से निकाल कर ऐसी दुनिया में लाये जहां उन्हे आत्मविश्वास के साथ अपने भीतर छुपी प्रतिभा को जानने और उसको निखारने का अवसर मिले।

रिनी मुखर्जी ने कहा कि अब तक वह 200 से ज्यादा बच्चों को संगीत में प्रशिक्षित कर चुकी हैं। इन बच्चों में काफी बच्चे अंडर प्रिविलेज स्टूडेंट्स है, जोकि संगीत के माध्यम से अपनी छाप छोड़ने में सफल रहे हैं। उनका कहना है कि स्कूल में स्पेशल चाइल्ड भी हैं जो संगीत के मध्यम अपने आप काफी चेंज ला रहे है ।

Write Your Own Review

Customer Reviews

सबसे तेज़

अन्य खबरे