राहुल गाँधी आज दलितों के समर्थन में राजघाट पर करेंगे उपवास

आज कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी दिल्ली में राजघाट स्थिति महात्मा गांधी की समाधि पर उपवास करेंगे. उनके साथ कांग्रेस के सभी आला नेता होंगे. मौजूद

इण्डिया, कोर न्यूज़ टीम दिल्ली Last updated: 09 April 2018 | 06:19:00

राहुल गाँधी आज दलितों के समर्थन में राजघाट पर करेंगे उपवास

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 2 अप्रैल के दलितों के भारत बंद के बाद उन पर हो रहे कथित अत्याचार के खिलाफ उपवास पर बैठेंगे. वह आज सुबह 10 बजे से शाम बजे तक राजघाट पर उपवास करेंगे. सभी जिला मुख्यालयों में कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता एक दिन का अनशन रखेंगे. इसी कड़ी में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी दिल्ली में राजघाट स्थिति महात्मा गांधी की समाधि पर उपवास करेंगे. उनके साथ कांग्रेस के सभी आला नेता होंगे. इस उपवास के पीछे की वजह सांप्रदायिक सौहार्द के बिगड़ते माहौल और दलितों के खिलाफ हो रहे अत्याचार को बताया गया है.

कांग्रेस के बड़े नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने कल कहा कि मोदी राज में दलित समाज पर अत्याचार बढ़ गए हैं. सिब्बल की बात जवाब देने आए कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस से सवाल पूछा कि राहुल गांधी ये झूठ क्यों फैला रहे हैं कि मोदी सरकार ने दलित एक्ट ही खत्म कर दिया.वही कांग्रेस के नए संगठन महासचिव अशोक गहलोत की तरफ से पार्टी के सभी प्रदेश अध्यक्षों, एआईसीसी महासचिवों/प्रभारियों और विधायक दल के नेताओं के भेजे गए दिशा निर्देश में कहा गया है कि सांप्रदायिक सौहार्द को बचाने और बढ़ाने के लिए सभी राज्यों और जिलों के कांग्रेस मुख्यालयों में 9 अप्रैल को उपवास रखा जाए


. इसमें 2 अप्रैल को भारत बंद के दौरान हुई गड़बड़ियों और हिंसा के हवाले से कहा गया है कि ये दुर्भाग्यपूर्ण है. बीजेपी शासित केन्द्र और राज्य की सरकारों ने हिंसा रोकने और दलितों के हक के संरक्षण के लिए कुछ नहीं किया. ऐसे मुश्किल वक्त में कांग्रेस को आगे बढ़ कर नेतृत्व करने की दरकार है.

वही बीते शुक्रवार को बीजेपी संसदीय दल की बैठक में उन्होने बीजेपी सांसदों से कहा कि वे कांग्रेस की विभेदकारी नीतियों के खिलाफ 12 तारीख़ को उपवास रखें. दलितों के मामले ने जिस तरह के तूल पकड़ा और भारत बंद के दौरान जो हिंसा हुई उसके पीछे बीजेपी विपक्ष को ज़िम्मेदार ठहरा रही है. जाहिर है कांग्रेस और बीजेपी दोनों उपवास के ज़रिए अपने अपने तरीक़े से दलितों के हक़ में खड़ा दिखने की कोशिश कर रही है.

Write Your Own Review

Customer Reviews

अन्य खबरे