सुप्रीम कोर्ट का DND टोल पर बड़ा फैसला

सुप्रीम कोर्ट ने सीएजी से पूछा था कि फ्लाइवे बनाने में कितना खर्च आया और कंपनी अब तक कितना टोल टैक्स वसूल चुकी है. कोर्ट ने सीएजी को 8 हफ्तों में अपनी रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया था वही ये भी कहा की अगली सुनवाई तक जनता से कोई टोल टैक्स नहीं लिया जाय

इण्डिया, कोर न्यूज़ टीम दिल्ली Last updated: 03 April 2018 | 16:57:00

सुप्रीम कोर्ट का DND  टोल पर बड़ा फैसला

दिल्ली नॉएडा को जोड़ने वाले DND टोल को लेकर सुप्रीम कोर्ट की तरफ से एक अच्छी खबर आई है इस रोड पे चलने वाले लोगों को अगली सुनवाई तक कोई टोल टेक्स नहीं देना होगा क्यों की सुप्रीम कोर्ट ने इलाहबाद हाई कोर्ट का फैसला सुरक्षित रखा है और अगली सुनवाई तब तक आम जनता के लिए DND टोल फ्री कर दिया है . कोर्ट ने CAG की रिपोर्ट को अपने संज्ञान में लेते हुए मामले की सुनवाई जुलाई में करने की बात कही. गौरतलब है कि, बीते 13 फरवरी को संबंधित वकील के अनुपस्थिति रहने के चलते सुप्रीम कोर्ट ने 6 हफ्तों के लिए सुनवाई टाल दी थी.

आपको बता दें कि इलाहाबाद हाई कोर्ट ने टोल टैक्स को रद्द कर दिया था, जिसके बाद नोएडा टोल ब्रिज कंपनी ने सुप्रीम कोर्ट में फैसले को चुनौती दी. इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने भी हाई कोर्ट के आदेश पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था. सुप्रीम कोर्ट ने सीएजी से पूछा था कि फ्लाइवे बनाने में कितना खर्च आया और कंपनी अब तक कितना टोल टैक्स वसूल चुकी है. कोर्ट ने सीएजी को 8 हफ्तों में अपनी रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया था वही ये भी कहा की अगली सुनवाई तक जनता से कोई टोल टैक्स नहीं लिया जायेगा |

सीएजी ने कोर्ट को सीलबंद लिफाफे में रिपोर्ट सौंपी थी. कोर्ट ने सीएजी की रिपोर्ट टोल कंपनी समेत सभी पक्षकारों को देने का निर्देश दिया था और कहा कि हमें नहीं लगता कि इस रिपोर्ट को सीलबंद रखना चाहिए. टोल कंपनी की ओर से मुकुल रोहतगी ने कहा था कि कंपनी को रोजाना 50 लाख रुपए का नुकसान हो रहा है इसलिए ममले की जल्द सुनवाई हो.

Write Your Own Review

Customer Reviews

सबसे तेज़

अन्य खबरे