कैम्ब्रिज एनालिटिका ने क्या कह दिया जिसके बाद बीजेपी ने कांग्रेस पे हमला बोल दिया

इस खुलासे के बाद बीजेपी ने बिना देर किए ही कांग्रेस पर हमला बोला. बीजेपी के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी को झूठ बोलने के लिए माफी मांगनी चाहिए.

इंडिया, कर न्यूज़ टीम डेस्क Last updated: 28 March 2018 | 20:59:00

कैम्ब्रिज एनालिटिका ने क्या कह दिया जिसके बाद बीजेपी ने कांग्रेस पे हमला बोल दिया

कैम्ब्रिज एनालिटिका (CA) डेटा लीक मामले में व्हिसलब्लोअर क्रिस्टोफर वाइली ने ब्रिटिश संसद में  गवाही देते हुए  कहा की मैंने कई प्रोजेक्ट पर काम किए है और शायद कांग्रेस के लिए भी काम किया.है उन्होंने  कहा की  कंपनी के पास भारत के लगभग सभी गांवों को डेटा था. जिस के बाद भारत में भी राजनीतिक हलचल तेज होगी है 

इस खुलासे के बाद बीजेपी ने बिना देर किए ही कांग्रेस पर हमला बोला. बीजेपी के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी को झूठ बोलने के लिए माफी मांगनी चाहिए.  


विली के अनुसार कैम्ब्रिज एनालिटिका की पैरंट कंपनी स्ट्रेटजिक कम्युनिकेशन लेब्रोटरिज (SCL)  एक सरकारी और सैन्य ठेकेदार SCL ग्रुप का हिस्सा है। ग्रुप के पास भारत के 600 जिलों और 7 लाख गांवों का डेटा है, जो लगातार अपडेट होता है। वाइली ने जो ब्योरा दिया है उसमें बताया गया है कि इस माइक्रो लेवल सूचना के जरिए जातिगत डेटा से लेकर घर-घर की जानकारी है। 


विली के अनुसार SCL चुनावी सर्वे और रिसर्च के अलावा कई राज्यों में जिहाद को कम करने के लिए काम कर रही थी. 2007 में एससीएल को केरल, बंगाल, झारखंड, और उत्तरप्रदेश में में जिहाद से जुड़ी हिंसा और भर्ती को रोकने के लिए अंतरराष्ट्रीय रिसर्च प्रोग्राम का जिम्मा दिया गया था.

विली ने यह भी बताया कि एक राष्ट्रीय पार्टी के लिए SCL ने 2012 में चुनाव से पहले जातिगत आधारित सर्वे का काम भी किया था. साथ ही 2007 में यूपी में बूथ लेवल पर राजनीतिक सर्वे का काम किया था. साथ ही 2009 के लोकसभा चुनाव में एक राष्ट्रीय पार्टी के लिए SCL ने नैशनल कैंपेन करने का काम किया था. SCL ने 2010 में जनता दल यूनाइटेड के लिए बिहार चुनाव के समय रिसर्च और रणनीतियां बनाने का काम किया.

इससे पहले मंगलवार को विली ने अपने खुलासे में उन्होंने बताया कि उन्होंने भारत में रहकर काफी काम किया और उसका यहां ऑफिस भी था

SCL इंडिया ऐसे करती थी काम 
SCL इंडिया की सेवा के जरिए उसके क्लायंट अपने टारगेट ग्रुप का चुनाव करते थे और अपने मतलब की बातों के जरिए वे इच्छित परिणाम हासिल करते थे। कंपनी अपने क्लायंट को रिसर्च के जरिए सही कम्यूनिकेशन चैनल का इस्तेमाल कर मजबूत डेटा मुहैया कराती थी 

वाइली ने ब्रिटिश संसद में कांग्रेस का भी लिया था नाम 
कैम्ब्रिज एनालिटिका के पूर्व कर्मचारी वाइली ने मंगलवार को ब्रिटिश संसद में कहा था, 'कंपनी भारत में बड़े पैमाने पर काम करती थी और शायद इसकी क्लायंट कांग्रेस पार्टी भी थी। उसने कहा कि भारत में कंपनी का एक दफ्तर भी था।' 28 वर्षीय वाइली ने ब्रिटिश संसद में दिए अपने बयान में दावा किया, 'मैं मानता हूं कि कांग्रेस कंपनी की क्लायंट थी, लेकिन मुझे पता है कि वे सभी प्रकार के प्रॉजेक्ट लेते थे। मुझे कोई नैशनल प्रॉजेक्ट याद नहीं है, लेकिन मुझे क्षेत्रीय प्रॉजेक्ट याद हैं। भारत इतना बड़ा देश है कि वहां का एक राज्य भी ब्रिटेन से बड़ा है।'

Write Your Own Review

Customer Reviews

अन्य खबरे