हिमाचल: मतदान को सफल बनाने के लिए महिलाओं व बच्चों के लिए किया गया ये खास इंतजाम

सोलन,  दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के त्योहार मतदान को सफल बनाने के लिए पहली बार मतदान केंद्रों पर महिलाओं व बच्चों के लिए कई खास इंतजाम किए गए हैं।

इंडिया, कोर न्यूज़ टीम शिमला Last updated: 15 May 2019 | 13:10:00

हिमाचल: मतदान को सफल बनाने के लिए महिलाओं व बच्चों के लिए किया गया ये खास इंतजाम

सोलन,  दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के त्योहार मतदान को सफल बनाने के लिए पहली बार मतदान केंद्रों पर महिलाओं व बच्चों के लिए कई खास इंतजाम किए गए हैं। बच्चों को उठाकर मतदान करने के लिए लंबी कतारों में लगने के डर से जो महिलाएं नहीं आती हैं उन्हें अब चिंता करने की आवश्यकता नहीं है।

चुनाव आयोग ने मतदान केंद्रों पर उचित व्यवस्थाएं करने के निर्देश दिए थे। इस मामले में जिला प्रशासन ने बाल विकास परियोजना अधिकारी को पत्र लिखकर कुछ नए इंतजाम के लिए कहा था। इसमें कहा था कि मतदान केंद्रों पर बच्चों के खाने-पीने के साथ-साथ खेलने और मनोरंजन की व्यवस्था हो ताकि माताएं र्निंश्चत होकर अपने मत का उपयोग कर सके। 

क्रेच सुविधा पहली बार

लोकसभा चुनाव में यह पहली बार हो रहा है जब मतदान केंद्रों पर क्रेच का भी इंतजाम किया जा रहा हो। हालांकि इससे पहले भी चुनाव आयोग मतदान केंद्र पर हर व्यवस्था उपलब्ध करवाने की बात करता रहा हो लेकिन इन चुनाव में कई इंतजाम हो रहे हैं। सभी मतदान केंद्रों पर शुद्ध पेयजल जल उपलब्ध करवाने के लिए सभी पेयजल टैंकों की सफाई करवाई गई, इसके अलावा दिव्यांग मतदाताओं के लिए अलग केंद्र बनाए गए। सोलन में मौजूद प्रदेश के कुष्ठ रोगियों के लिए अलग मतदान केंद्र बनाया गया है। इसके साथ ही बुजुर्ग मतदाताओं को जिला प्रशासन घर पहुंचकर सम्मानित कर रहा है। 

 

सोलन व कसौली में इंतजाम पूरे

सोलन व कसौली विधानसभा क्षेत्र में 223 मतदान केंद्र हैं। इनमें सोलन के 124 केंद्र और 99 केंद्र  कसौली विधानसभा के शामिल हैं। बाल विकास परियोजना अधिकारी को पत्र लिखा था कि वह आंगनबाड़ी सहायिका और कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाएं। इसके बाद सभी केंद्रों के लिए अब कार्यकर्ताओं का इंतजाम र लिया गया है।

 

सभी स्टेशन पर इंतजाम पूरे : राठौर

एसडीएम एवं सहायक निर्वाचन अधिकारी रोहित राठौर ने बताया यह पहली बार हो रहा है कि मतदान केंद्र के साथ क्रेच का भी इंतजाम होगा। इसके लिए कसौली व सोलन विधानसभा क्षेत्र में स्टॉफ की व्यवस्था कर ली गई है। सुबह के सात से शाम के छह बजे तक प्रत्येक केंद्र पर एक कर्मचारी आंगनबाडी सहायक या कार्यकर्ता मौजूद रहेगा। बच्चों की सुविधा के लिए यहां पर वह बिस्कुट, खिलौने, दरियां, पेयजल सहित अन्य सामग्री का भी इंतजाम करेंगे।

 

 

 

credit by: jagran

Write Your Own Review

Customer Reviews

सबसे तेज़

अन्य खबरे