महाराष्ट्र सरकार पर विपक्ष ने लगाया चाय घोटाले का आरोप

महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री कार्यालय एक साल में 3 करोड़ 34 लाख की सिर्फ चाय पीता है , ये खुलासा एक आर टी आई के जरिए हुआ जिसे विपक्ष ने मुद्दा बना कर सरकार को घेरना सुरु कर दिया है |

इण्डिया, कोर न्यूज़ मुंबई Last updated: 29 March 2018 | 12:58:00

महाराष्ट्र  सरकार पर विपक्ष ने लगाया चाय घोटाले का आरोप

               बीजेपी के नेता ने ही आर टी आई डालकर अपनी ही सरकार को कटघरे में खड़ा कर दिया , जिसका जबाब सायद सरकार के पास भी नहीं है ,


महाराष्ट्र सरकार पे ऐसे घोटो का आरोप लगता है जिसे सुनकर पहले तो आपको हसी आएगी फिर ताज्जुब भी होगा , आपको बता दे इस सरकार पे पहले चूहा घोटाले का आरोप लगा था  उसके बाद अब बिपक्ष ने एक नए घोटाले का आरोप लगाया है आपको बता दे पहले चूहा मारो घोटाले जैसे अजीबों-गरीब घोटाले में फंसी महाराष्ट्र सरकार अब एक ऐसे घोटाले में फंसती नज़र आ रही है जो और भी अजीब है. राज्य में अब चाय घोटाला हुआ है जिसे लेकर विपक्ष हमलावर हो गया है.

. दरसल एक आर टी आई के जरिए खुलासा हुआ है की महाराष्ट्र सरकार का चाय  खर्च  खर्च 577 प्रतिशत बढ़ गया है.| लेकिन जब आप इस खर्च पे किया गया ब्यय सुनेगे तो आपके होस उड़ जायेगे .. 2017-18 में मुख्यमंत्री कार्यालय ने चाय पर लगभग 3 करोड़ 34 लाख रुपये खर्च किए. इस बेतहाशा खर्च पर विपक्ष का सवाल है कि क्या चूहे चाय पी गए.


अब जरा ये भी जान ले क्या था चूहा घोटाला ....... 


महाराष्ट्र सरकार के सचिवालय में हुए चूहा घोटाले को लेकर फडणवीस सरकार पहले से कटघरे में है. बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री एकनाथ खड़से ने एक आरटीआई के हवाले से ही सरकार पर चूहा घोटाले का आरोप लगाया था 


सूचना के अधिकार के तहत जानकारी का हवाला देते हुए खडसे ने आरोप लगाया कि मंत्रालय में चूहे मारने का टेंडर जिस कंपनी को दिया उसने सात दिन में 3 लाख 19 हजार चूहे मारे. इस हिसाब से एक मिनट में 34 और एक दिन में करीबन 45 हजार चूहे मारे गए. खडसे का कहना है कि एक दिन में 900 क्विंटल यानी कि 9 टन चूहे मारे. इतने चूहे एक ट्रक में ले जाकर दफनाने पड़े होंगे.

खडसे ने कहा कि मरे हुए चूहे का ट्रक मंत्रालय से ले जाते वक्त क्यूं नजर नहीं आया और इतने चूहे मारने के लिए दवाइयां कहां से मंगाई गईं. उन्होंने कहा कि जब पूरे मुंबई में लगभग 6 लाख चूहे है तो 3 लाख 76 हजार चूहे सिर्फ मंत्रालय में कैसे जा घुसे. तमाम सवाल उठाकर खड़से ने अपनी ही सरकार को कटघरे में खड़ा कर दिया. इस मामले को लेकर सरकार ने उचित जांच करने का भरोसा दिया है. |

 

 

 

 


फोटो क्रेडिट नागपुर टुडे .in

Write Your Own Review

Customer Reviews

सबसे तेज़

अन्य खबरे