केजरीवाल के मजीठिया से माफ़ी मांगने के बाद पंजाब अध्यक्ष(आप) पद से भगवंत मान ने दिया इस्तीफा

केजरीवाल के माफी मांगने के बाद मजीठिया ने उनके खिलाफ दायर किये गए मामले को वापस लेने का फैसला किया. केजरीवाल के माफी मांगने पर मजीठिया ने कहा था उन्हें खुशी है कि सत्य की जीत हुई और केजरीवाल को उनकी गलती का एहसास हुआ.

इण्डिया, कोर न्यूज़ टीम पंजाब Last updated: 16 March 2018 | 11:07:00

Bhagwant Mann resigns the post of Punjab President (AAP) after seeking apology from Kejriwal`s Majithia


आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने अकाली दल नेता विक्रम मजीठिया से माफी मांग ली है. केजरीवाल ने मजीठिया पर ड्रग्स रैकेट के आरोप लगाए थे. उन्होंने कहा कि चुनाव के वक्त उन्होंने जो आरोप लगाए थे वो गलत थे. केजरीवाल की माफी के बाद आम आदमी पार्टी में बगावत हो गई है. पंजाब में पार्टी नेता सुखपाल खैरा ने केजरीवाल की माफी पर सवाल उठाए हैं.


आपको बता दे अरबिंद केजरीवाल ने कई नेताओ पे गंभीर आरोप लगाए थे लेकिन आज तक किसी नेता पे भी उन्होंने आरोप साबित नहीं किया , इसी आरोप प्रत्यारोप में पंजाब के संगरूर से सांसद भगवंत मान ने शुक्रवार (16 मार्च) को आम आदमी पार्टी (आप) के प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है  दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा शिरोमणि अकाली दल के नेता बिक्रम सिंह मजीठिया से माफी मांगने के एक दिन बाद यह वाकया हुआ है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार (15 मार्च) को शिरोमणि अकाली दल के नेता बिक्रम सिंह मजीठिया पर मादक पदार्थ के व्यापार में शामिल होने का निराधार आरोप लगाने के लिए माफी मांगी थी.|

केजरीवाल के माफी मांगने के बाद मजीठिया ने उनके खिलाफ दायर किये गए मामले को वापस लेने का फैसला किया. केजरीवाल के माफी मांगने पर मजीठिया ने कहा था उन्हें खुशी है कि सत्य की जीत हुई और केजरीवाल को उनकी गलती का एहसास हुआ.

बिक्रमजीत सिंह मजीठिया कौन हैं? 

पंजाब के पूर्व डिप्टी सीएम सुखबीर बादल की पत्नी के भाई यानी साले हैं. मजीठिया बादल सरकार में मंत्री रह चुके हैं. वर्तमान में वो मजीठिया विधानसभा सीट से शिरोमणी अकाली दल के विधायक हैं. 2007 और 2012 में भी विधायक रह चुके हैं. सुखबीर बादल की पत्नी हरसिमरत कौर के भाई हैं. हरसिमरत कौर अभी केंद्र की बीजेपी सरकार में मंत्री हैं.|


इस 'निरीह आत्मसमर्पण' के प्रति आम आदमी पार्टी की पंजाब इकाई के नेताओं ने गुस्सा जाहिर किया. उन्होंने केजरीवाल के इस कदम को 'निराश करने वाला' बताया. हालांकि दिल्ली में बैठे आप नेताओं का कहना है कि यह कदम अदालती मामले को बंद कराने के लिहाज से उठाया गया जहां केजरीवाल खुद को फंसता देख रहे थे. साथ ही उन्होंने इशारा किया कि यह मामला भी वही मोड़ ले सकता था जो वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा दाखिल मानहानि के मामले ने ले लिया.

अरविन्द केजरीवाल ने मजीठिया पे ये आरोप लगाए थे ....... 

पिछले साल पंजाब विधानसभा चुनावों के दौरान मादक पदार्थों के प्रचलन का मुद्दा खूब जोरो- शोरों से उठा था जिसके बाद केजरीवाल ने राज्य सरकार में तत्कालीन मंत्री मजीठिया पर इस व्यापार में शामिल होने का आरोप लगाया था. हालांकि अपनी माफी में केजरीवाल ने कहा कि उन्हें मालूम हुआ कि उनके आरोप निराधार थे. |

Write Your Own Review

Customer Reviews

सबसे तेज़

अन्य खबरे