हरियाणा : बदलते मौसम ने किसानो की बढ़ाई चिंता

ऊंचाई वाले इलाकों में जहां बर्फबारी हुई वहीं निचले इलाके भी बारिश में भीग गए हैं. हरियाणा और पंजाब में बारिश ने किसानों की चिंताएं बढ़ा दी है. क्योंकि वैशाखी पर जहां पंजाब में गेहूं की फसल की कटाई शुरू हो जाती है

इंडिया, कोर न्यूज़ टीम हरियाणा Last updated: 11 April 2018 | 14:30:00

हरियाणा : बदलते मौसम ने किसानो की बढ़ाई चिंता

बदलते मौसम ने किसानो की चिंता बढ़ा दी है क्यों की मौसम ने एक बार फिर करवट ली है. पहाड़ों पर बर्फबारी और मैदानी इलाकों में हुई बारिश से मौसम में बदलाव आया है. गर्मी के मौसम में सर्दी का एहसास हो रहा है. वहीं हरियाणा, पंजाब में किसानों की चिंता बढ़ गई है.


ऊंचाई वाले इलाकों में जहां बर्फबारी हुई वहीं निचले इलाके भी बारिश में भीग गए हैं. हरियाणा और पंजाब में बारिश ने किसानों की चिंताएं बढ़ा दी है. क्योंकि वैशाखी पर जहां पंजाब में गेहूं की फसल की कटाई शुरू होती है. वहीं हरियाणा में कटी कटाई और पकी पकाई फसल मंडियों में पहुंच चुकी है और खुले आसमान के नीचे भीग रही है.


वहीं मंगलवार देर रात से रोहतांग दर्रे समेत पर्यटन स्थल सोलंगनाला, गुलाबा और मढ़ी में रुक-रुक कर बर्फबारी हो रही है. वहीं मनाली कुल्लू समेत तमाम निचले इलाकों में बारिश का दौर जारी है. मौसम में एकाएक आए इस बदलाब से अप्रैल महीने में ठंड का एहसास होने लगा है. बर्फबारी के बाद रोहतांग दर्रे को वाहनों के लिए बंद कर दिया गया है.

मौसम विभाग के डीजीएम डॉ. देवेंद्र प्रधान का कहना है कि वैसे तो यह तीनों पश्चिमी विक्षोभ कमजोर हैं, लेकिन इनकी वजह से बारिश और ओलावृष्टि हो रही है. क्योंकि इस समय उत्तर भारत में बंगाल की खाड़ी से आई हुई पूर्वा हवाएं पहले से मौजूद हैं और यही वजह है कि कमजोर पश्चिमी विक्षोभ के बावजूद पहाड़ों पर लगातार रुक- रुक कर बारिश हो रही है.

Write Your Own Review

Customer Reviews

अन्य खबरे