बॉल टैंपरिंग :-ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ और कोच डेरेन लेहमन के भविष्य का फैसला आज ,लग सकता है 12 महीने का प्रतिबंध

बैठक में ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ और कोच डेरेन लेहमन के भविष्य का फैसला किया जाएगा। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख जेम्स सदरलैंड पर बड़ा और कड़ा फैसला करने के लिए भारी दबाव है,

इंडिया, कोर न्यूज़ टीम डेस्क Last updated: 27 March 2018 | 02:05:00

बॉल टैंपरिंग :-ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ और कोच डेरेन लेहमन के भविष्य का फैसला आज ,लग सकता है 12 महीने का प्रतिबंध

बॉल टेम्परिंग विवाद से ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट में आया भूचाल अभी थमने का नाम नहीं ले रहा है गेंद से छेड़छाड़ के मामले में  आज दक्षिण अफ्रीका में आपात बैठक होगी। इस बैठक में ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ और कोच डेरेन लेहमन के भविष्य का फैसला किया जाएगा। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख जेम्स सदरलैंड पर बड़ा और कड़ा फैसला करने के लिए भारी दबाव है, क्योंकि ऑस्ट्रेलियाई मीडिया ने जिस तरह से इस घटना को लेकर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की आड़े-हाथों लिया है। स घटना के बाद से ही क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के साथ-साथ ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों की भी काफी किरकिरी हो रही है 


सदरलैंड और रॉय कड़े फैसले कर सकते हैं और रिपोर्टों के अनुसार वे स्मिथ और उपकप्तान डेविड वॉर्नर पर 12 महीने का प्रतिबंध लगाकर उन्हें स्वदेश भेज सकते हैं. स्मिथ गेंद से छेड़खानी की योजना बनाने में शामिल होने के कारण पहले ही एक मैच का प्रतिबंध झेल रहे हैं, जो उन पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने लगाया है. स्मिथ के साथी कैमरन बेनक्रॉफ्ट को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच के दौरान गेंद से छेड़छाड़ करते हुए पाया गया था.

इसका मतलब है कि वह जोहानिसबर्ग में शुक्रवार से शुरू होने वाले चौथे और अंतिम टेस्ट मैच में नहीं खेल पाएंगे. लेहमन इस विवाद के शुरू होने के बाद से ही चुप्पी साधे हुए हैं, लेकिन ब्रिटिश टेलीग्राफ के अनुसार उन्होंने अपना पद छोड़ने का फैसला कर लिया है, जो कि तुरंत प्रभाव से लागू होगा. इसका मतलब है कि वह भी इस टेस्ट मैच का हिस्सा नहीं होंगे.

डेरेन लेहमन 2013 में टीम के कोच बने थे, जब मिकी ऑर्थर को बर्खास्त किया गया था. जस्टिन लैंगर को उनका स्थान लेने के लिए मजबूत दावेदार माना जा रहा है, हालांकि रिकी पोंटिंग का नाम भी चर्चा में है.

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई विश्वकप विजेता कप्तान माइकल क्लार्क इस मामले में डैरेन लेहमेन को भी बराबर का दोषी मानते हैं. क्लार्क का कहना है कि 'लैहमेन भी इस मामले में बराबर के दोषी हैं. चाहे उन्हें इस प्लान के बारे में पता हो या नहीं.' 


 photo credit - google (zeenews)

Write Your Own Review

Customer Reviews

अन्य खबरे