क्रिकेटर डैरेन सैमी का जज्बा तारीफे काबिल , पैर में चोट लगने के बावजूद टीम को दिलाई जीत |

कप्तान डैरेन सैमी ने अपनी टीम को जब जीत दिलाई तब उनके पैर में काफी चोट लगी थी. वे मैदान पर ठीक से खड़े भी नहीं हो पा रहे थे. लेकिन चोट के बावजूद उन्होंने अपनी छोटी सी पारी में दो छक्के एक चौके के साथ जरूरी 16 रन बना डाल

इण्डिया, कोर न्यूज़ टीम खेल Last updated: 03 March 2018 | 11:17:00

क्रिकेटर  डैरेन सैमी का जज्बा तारीफे काबिल , पैर में चोट लगने के बावजूद टीम को दिलाई जीत |


पाकिस्तान में हो रहे पीएसएल को दर्शकों की कमी से जूझना पड़ रहा है, हीं दूसरी ओर यहां एक बाद एक हैरतअंगेज कारनामें दिख रहे हैं डैरेन सामी ने पीएसएल क्वेटा ग्लैडिएटर्स और पेशावर जाल्मी के बीच खेले गए मैच में शानदार प्रदर्शन कर क्रिकेट प्रेमियों का दिल जीत लिया है. मैच के दौरन चोटिल होने के बावजूद  सैमी मैदान पर आए तो टीम को 7 गेंदों पर 16 रन की जरूरत थी. सैमी  ने 4 गेंदों में 16 रन की पारी खेल टीम को जीत की दहलीज पर पहुंचा दिया. पीएसएल का मैच क्वेटा ग्लैडिएटर्स और पेशावर जाल्मी के बीच गुरुवार (एक मार्च, 2018) को यूएई में खेला गया. इसमें पहले बल्लेबाजी करते हुए ग्लैडिएटर्स ने 20 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 141 रन बनाए थे.  

जाल्मी ने सैमी की पारी के चलते इस लक्ष्य को 19.4 ओवर में पांच विकेट खोकर हासिल कर लिया. इस बेहतरीन ऑलराउंड प्रदर्शन के लिए उन्हें मैन ऑफ द् मैच चुना गया. लेकिन इस पारी की सबसे खास बात यह थी कि कप्तान सैनी ने अपनी टीम को जब जीत दिलाई तब उनके पैर में काफी चोट लगी थी. वे मैदान पर ठीक से खड़े भी नहीं हो पा रहे थे. लेकिन चोट के बावजूद उन्होंने अपनी छोटी सी पारी में दो छक्के एक चौके के साथ जरूरी 16 रन बना डाले.  


वेंकटेश प्रसाद ने जूनियर चयन समिति के अध्यक्ष पद से  क्यों दिया इस्तीफा ?

आम तौर पर टी-20 क्रिकेट देखने मैदान पर दर्शक बड़ी तादाद में उमड़ते हैं लेकिन पाकिस्तान सुपर लीग के आयोजक इस टूर्नामेंट में लोगों की रूचि जगाने में नाकाम रहे हैं और ज्यादातर मैचों में दीर्घायें खाली पड़ी रहती है. लीग का तीसरा सत्र पिछले सप्ताह यूएई में शुरू हुआ लेकिन पाकिस्तान के शीर्ष क्रिकेटरों और अन्य अंतरराष्ट्रीय सितारों के खेलने के बावजूद इसे देखने दर्शक नहीं आ रहे हैं. उद्घाटन समारोह में अली सफर, आबिदा परवीन जैसे पाकिस्तानी गायक और अमेरिकी रैपर जासन डेरूलो मौजूद थे.   


माहिरा खान, हमजा अली अब्बासी और फवाद खान जैसे फिल्मी सितारे भी लोगों की इसमें दिलचस्पी का सबब नहीं बन सके. आयोजक कोशिश में जुटे हैं कि यह टूर्नामेंट पाकिस्तान में खेला जा सके जहां 2009 में श्रीलंकाई टीम बस पर आतंकी हमले के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नहीं हो रहा है. पिछले साल पीएसएल का फाइनल लाहौर में खेला गया था . बाद में विश्व एकादश ने भी तीन टी20 मैचों की श्रृंखला भी खेली गई .इस साल आखिरी तीन मैच लाहौर और कराची में खेले जायेंगे.   


 फोटो क्रेडिट -( स्टाअनफोल्ड .कॉम )

Write Your Own Review

Customer Reviews

अन्य खबरे